कारगिल विजय दिवस के अवसर पर लौबंद ग्राम किया में किया गया वृक्षरोपण

म्योरपुर/पंकज सिंह

पर्यावरण सक्षरण होना स्वभाविक है, आखिर क्यों नही होगा, मानव ने अपने रीती-रिवाजो से पर्यावरण को अलग जो कर लिया है। हमारे पूर्वजों ने तो पर्यावरण व मानव के मध्य सतत सम्बन्ध स्थापित करने के लिए रीति रिवाजो को पारिस्थिति की तंत्र से जोड़ा था लेकिन हम

मानव आधुनिकरण की अंधी दौड़ में प्रकृति का दोहन करना प्रारंभ कर दिया और पारिस्थितिकी तंत्र को पूर्ण रूप से वर्वाद कर दिया, जिसका परिणाम वर्तमान में कोविड-19 वायरस है। इस वायरस को इंसानिय भूख ने जंगलो से निकाल कर इन्सान की बस्तियों तक पंहुचा दिया मानव को भविष्य में कोविड जैसे वायरस से बचने के लिए पुन: प्रकृति की ओर लौटना पड़ेगा। पर्यावरण

सरक्षण एवं सवर्धन गतिविधियों को अपने व्यक्तिगत खुशियों के साथ जोड़ना होगा जिसमे हमारा जन्म दिवस, विवाह महोत्सव, बच्चो का नयी कक्षा में प्रवेश, नौकरी, व्यवसाय या परीक्षा परिणाम आदि के हर्ष उल्लास शामिल है। कारगिल विजय दिवस के उपलक्ष पर हेमंत यादव फाउंडेशन द्वारा आयोजित वृक्षारोपण

कार्यक्रम के दौरान उपस्थित जनो को संबोधित करते हुये राष्ट्रीय युवा पुरस्कार विजेता एवं सामाजिक कार्यकर्ता डॉ हेमन्त कुमार यादव ने राष्ट्रीय वृक्षारोपण अभियान 2021 के तहत सोनभद्र के ब्लाक म्योरपुर, लोहबंद ग्राम में आयोजित वृक्षारोपण के दौरान कही। डॉ हेमंत ने कहा की वृक्षारोपण का आयोजन हम अपनी व्यक्तिगत ख़ुशी और राष्ट्र गौरव दिवस “कारगिल विजय दिवस” को एक साथ मानाने के लिए लोहबंद ग्राम में आयोजन कर कर रहे है पिछले सप्ताह सिक्किम विश्वविद्यालय से मेरी पी.एच. डी. का सफल साक्षत्कार हुआ जो एक स्कॉलर के लिए बड़ी हर्ष की बात है। इस ख़ुशी को आज हम 26 जुलाई कारगिल विजय दिवस के दिन वृक्षारोपण आयोजित कर मना रहे हैं आज के दिन भारत ने कारगिल युद्ध के दौरान पाकिस्तान की सेना पर विजय प्राप्त किया था। डॉ हेमन्त ने वृक्षारोपण कार्यक्रम के माध्यम देश और प्रदेश की जनता से अपील किया की पर्यावरण सरक्षण से सम्बंधित सभी गतिविधयों को अपने पारिवारिक आयोजनों और हर्ष से जोड़े जिस दिन भारत का प्रतेक नागरिक इसका अनुसरण करने लगेगा उस दिन से पर्यावरण समसे सम्बंधित समस्त समस्याओं से निजात मिल जायेगी। हेमन्त यादव फाउंडेशन द्वारा राष्ट्रीय वृक्षारोपण अभियान के तहत वृक्षारोपण कार्य सम्पूर्ण देश में किया जायेगा जिसके प्रथम चरण का आयोजन उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले से प्रारम्भ किया गया। वृक्षारोपण अभियान के तहत सोनभद्र के लोहबंद ग्राम में कुल दस किस्मो के 501 फलदार वृक्षों के पौधों का रोपण किया गया. जिसका उद्घाटन वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता श्री द्वारका प्रसाद, सोनभद्र के प्रख्यात साहित्यकार एवं वैध डॉ लखन राम ‘जंगली’ जी और समाजिक कार्यकर्ता डॉ हेमन्त यादव के द्वारा सयुक्त रूप से किया गया. डॉ लखन राम जंगली ने बताया की वृक्ष चाहे फलदार हो या लकड़ी वाले सभी का अपना महत्व है। सभी मानव जीवन के लिए अनेको प्रकार से उपयोगी है, वर्तमान परिदृश्य में में जब पर्यावरण का बहुत क्षति हुयी है ऐसे हालत में वृक्षारोपण का महत्व और बढ़ जाता है इस प्रकार की गतिविधियों के लिए जन भागिदारी आवश्यक है। वृक्षारोपण के अवसर पर अधिवक्ता श्री रविकान्त गुप्ता, श्री आशुतोष कुमार गुप्ता, गार्डेन विशेषग्य श्री रामबली पटेल, सहायक विजय कुमार पटेल सहित दर्जनों स्थानीय लोग ने भाग लिया।

Translate »

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com