वनाधिकारियो ने ट्रैक्टर को वन अधिनियम की धारा के तहत किया कारवाई

ओम प्रकाश रावत विंढमगंज (सोनभद्र)

विंढमगंज- सोनभद्र- थाना क्षेत्र इन दिनों बालू व पत्थरों के खनन में शुमार होता जा रहा है ,इसके अलावा ओवरलोड परिवहन तो अब दस्तूर भी बन चुका है। करीब एक माह पूर्व जिले के डीएम अभिषेक सिंह ने चिठ्ठी जारी कर इसकी रोकथाम के लिए त्रिसदस्यीय टीम गठित किया है जिसमें उपजिलाधिकारी दुद्धी , पुलिस क्षेत्राधिकारी दुद्धी व वन विभाग के मंडलीय उड़ाका दल प्रभारी मनमोहन मिश्रा को नामित किया है लेकिन उड़ाका दल प्रभारी

मनमोहन मिश्र इन दिनों खासे चर्चे में है जो गुप चुप तरीके से रात्रि गस्त करते है और ट्रैक्टरों को पकड़ने में सफलता भी हासिल करते है लेकिन कार्रवाई से बचाते हुए पकड़े ट्रैक्टरों के स्वामियों से सेटिंग गेटिंग कर छोड़ देते है। समूचे क्षेत्र में इस बात की चर्चा है अभी ताजा घटना बीती सोमवार मध्य रात्रि को रात्रि गस्त करते उन्होंने विंढमगंज रेंज में कोरगी व डूमरा कनहर नदी से अवैध बालु खनन कर परिवहन करते दो ट्रैक्टरों को घेराबंदी कर दबोच लिया प्रत्यक्ष दर्शियों ने नाम ना छापने की शर्त पर बताया कि दो महिंद्रा ट्रैक्टर पतरिहा गाँव का पकड़ा जिसमें एक ट्रैक्टर जिसकी माहवारी एंट्री होने की एवज में सेटिंग गेटिंग कर धन वसूली कर छोड़ दिया। वहीं माहवारी एंट्री नहीं देने वाले ट्रैक्टर स्वामी के महिंद्रा युगों ट्रैक्टर को विंढमगंज रेंज को सुपुर्द करते हुए कार्रवाई हेतु निर्देश दे दिए वहीं तीसरा सोनालिका ट्रैक्टर जोरुखाड़ तिराहा पर बालू का परिवहन करते दौड़ाकर पकड़ा ,ट्रैक्टर चालक बालू को गिराकर भागने लगा लेकिन उनके चंगुल से नहीं बचा, पूछताछ में पता चला कि ट्रैक्टर की माहवारी एंट्री हैं फिर ट्रैक्टर स्वामी से दस हजार की उगाही कर छोड़ दिया। गोपनीय सूत्रों ने बताया कि खनन में लिप्त ट्रैक्टर को पकड़ा जाता हैं और भारी भरकम धन उगाही कर छोड़ दिया जाता हैं। इसलिए धन देने के एवज में फिर से ट्रैक्टर स्वामी द्वारा ट्रैक्टर को अवैध खनन में उतार दिया जाता हैं। उड़ाका दल प्रभारी मनमोहन मिश्रा का नाम अब ऐसे अधिकारियों के नाम मे शुमार है जो ट्रैक्टर संचालकों से खुद के लिए प्रति माह एंट्री भी लेते है और गस्त के दौरान अगर उन ट्रैक्टरों को भी पकड़ते है और सीधा कार्रवाई उन्ही ट्रैक्टरों पर करते है जो उनके माहवारी एंट्री से बाहर रहते है ,ऐसे ट्रैक्टरों को पकड़कर माहवारी एंट्री कराने को मजबूर भी करते है जिससे बालू का खेल साठ गांठ कर चल सके। इस संदर्भ में जब एसडीओ व उड़ाका दल प्रभारी मनमोहन मिश्रा से सेलफोन पर वार्ता की गई तो उन्होंने बताया कि कनहर नदी में तकरीबन 15 ट्रैक्टर अवैध बालू खनन व परिवहन में लिप्त थे जो उनके पहुँचते ही भागने लगे केवल एक ट्रैक्टर ही वे पकड़ पाए जिसे विंढमगंज रेंजर को कार्रवाई हेतु निर्देशित किया है विंढमगंज वनाधिकारियो ने बताया कि ट्रैक्टर को वन अधिनियम की धारा 5/26,41/42 के तहत कारवाई कर दिया गया है।

[/responsivevoice]

अपने शहर का अपना एप अभी डाउनलोड करें .

Loading...
Translate »

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com