Wednesday , September 28 2022

मुख्यमंत्री ने वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विन्ध्याचल मण्डल के विकास कार्यों की समीक्षा की

विन्ध्य क्षेत्र ‘हर घर नल’ योजना के लिए चयनित,
इस योजना के लिए 06 हजार करोड़ रु0 की व्यवस्थामीरजापुर के आई0टी0 इंजीनियरिंग काॅलेज तथा
राजकीय मेडिकल काॅलेज के निर्माण कार्य को समयबद्ध ढंग से पूरा करेंविन्ध्याचल मण्डल में विकास और रोजगार का माध्यम पर्यटन हो
सकता है, पर्यटन विकास की योजनाओं को विशेष ध्यान देते हुए पूरा किया जाएविन्ध्याचल में अष्टभुजा और काली खोह में रोप-वे तक
पहुंच मार्ग एवं पेयजल आदि की सुविधा उपलब्ध कराने के निर्देशजनपद भदोही में एक्सपो मार्ट के संचालन की
कार्ययोजना बनाकर कालीन निर्यात को बढ़ावा दिया जाएजनपद भदोही में वेटनरी काॅलेज के निर्माण की कार्यवाही तेज की जाएऔराई चीनी मिल में बायो फ्यूल उत्पादन की कार्ययोजना बनायी जाएजनपद सोनभद्र में आई0एच0एस0डी0पी0 योजना के तहत आवास निर्माण
में लाभार्थी अंश उपलब्ध कराने में असमर्थ लाभार्थियों के लिए धनराशि
की व्यवस्था सी0एस0आर0 आदि से करायी जाएजनपद सोनभद्र में एयरपोर्ट का निर्माण विकास के लिए आवश्यक आकांक्षात्मक जनपद सोनभद्र में अच्छे विकास
कार्य हुए हैं, विकास कार्यों में और गति लायी जाएप्रत्येक विकास कार्य के लिए नोडल अधिकारी तैनात हों, जो समयबद्ध ढंग से
निर्माण कार्यों की प्रगति के सम्बन्ध में समीक्षाएं करें, जिससे कार्य शीघ्र पूर्ण होग्राम सचिवालय, सामुदायिक शौचालय के निर्माण कार्य प्राथमिकता के साथ कराए जाएंजिला प्रशासन को राहत आयुक्त के साथ समन्वय बनाकर
स्थानीय स्तर पर आकाशीय बिजली के सम्बन्ध में अलर्ट जारी करने के निर्देशलखनऊ: । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा है कि विन्ध्य क्षेत्र ‘हर घर नल’ योजना के लिए चयनित है। इस योजना के लिए 06 हजार करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई है। इसके तहत स्वच्छ व शुद्ध पेयजल की व्यवस्था की जाएगी।
मुख्यमंत्री जी आज यहां अपने सरकारी आवास पर वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विन्ध्याचल मण्डल के विकास कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने विन्ध्याचल मण्डल के जनप्रतिनिधियों से संवाद स्थापित करते हुए विकास कार्यों के सम्बन्ध में फीडबैक प्राप्त किया। उन्होंने सभी परियोजनाओं को समयबद्ध व गुणवत्तापरक ढंग से पूर्ण किए जाने के निर्देश दिए, जिससे जनता को इनका लाभ प्राप्त हो सके।
मुख्यमंत्री जी ने आई0टी0 इंजीनियरिंग काॅलेज, मीरजापुर के निर्माण को समयबद्ध ढंग से पूर्ण कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि इस काॅलेज के निर्माण की प्रगति के सम्बन्ध में नियमित समीक्षा की जाए। उन्होंने कहा कि राजकीय मेडिकल काॅलेज, मीरजापुर में प्रवेश प्रक्रिया प्रारम्भ किए जाने के दृष्टिगत निर्माण कार्य को समयबद्ध ढंग से पूर्ण कराया जाए।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि विन्ध्याचल मण्डल में विकास और रोजगार का माध्यम पर्यटन हो सकता है। पर्यटन विकास की योजनाओं को विशेष ध्यान देते हुए पूरा किया जाए। विन्ध्यवासिनी धाम क्षेत्र का विकास पर्यटन को बढ़ावा देगा। उन्होंने अष्टभुजा और काली खोह में रोप-वे तक पहुंच मार्ग एवं पेयजल आदि की सुविधा उपलब्ध कराए जाने के सम्बन्ध में निर्देश दिए। उन्होंने विन्ध्यवासिनी धाम क्षेत्र की कार्ययोजना के सम्बन्ध में दिए गए निर्देशों का अनुपालन किए जाने की बात कही।
मुख्यमंत्री जी ने जनपद भदोही में निर्मित एक्सपो मार्ट के संचालन की कार्ययोजना बनाकर कालीन के निर्यात को बढ़ावा दिए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि भदोही में वेटनरी काॅलेज के निर्माण की कार्यवाही तेज की जाए तथा औराई चीनी मिल में बायो फ्यूल के उत्पादन की कार्ययोजना बनायी जाए। उन्होंने सोनभद्र जनपद में आई0एच0एस0डी0पी0 योजना के तहत आवास निर्माण में लाभार्थी अंश उपलब्ध कराने में असमर्थ लाभार्थियों के लिए धनराशि की व्यवस्था सी0एस0आर0 आदि के तहत कराए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आवासों को शीघ्रता से पूर्ण कराकर लाभार्थियों को उपलब्ध कराया जाए, जिससे उन्हें आवासीय सुविधा का लाभ मिल सके।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि विकास योजनाओं का भौतिक सत्यापन जरूरी है। इस सम्बन्ध में क्षेत्र भ्रमण कर कार्यवाही की जाए। किसी भी कार्यदायी संस्था द्वारा मानकों के अनुरूप ही गुणवत्ता सुनिश्चित करते हुए निर्माण कार्य कराया जाए। प्रत्येक विकास कार्य के लिए नोडल अधिकारी तैनात हों, जो समयबद्ध ढंग से निर्माण कार्यों की प्रगति के सम्बन्ध में समीक्षाएं करें, जिससे कार्य शीघ्र पूर्ण हो। उन्होंने कहा कि रिवाइज इस्टीमेट की स्थिति न आने दी जाए। किसानों को उर्वरकों सहित कृषि सम्बन्धी अन्य समस्याओं का सामना न करना पड़े, इसके लिए सम्बन्धित विभाग कार्ययोजना बनाकर लागू करें। उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) तथा (शहरी), स्वच्छ भारत मिशन के कार्यों के लिए जवाबदेही तय किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन, नारी गरिमा तथा स्वस्थ भारत मिशन का आधार है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवासों के आवंटन के सम्बन्ध में स्थानीय स्तर पर निर्णय लिया जाए। ग्राम सचिवालय, सामुदायिक शौचालय के निर्माण कार्य प्राथमिकता के साथ कराए जाएं। आवासीय योजनाओं की किश्तों को समय से जारी किया जाए। राजस्व में वृद्धि के सम्बन्ध में समयबद्ध समीक्षा की जाए। राहत आयुक्त द्वारा वर्तमान तकनीकी के आधार पर आकाशीय बिजली की घटना से 05-06 घण्टे पूर्व घटना के सम्बन्ध में अलर्ट जारी किए जाते हैं। उन्होंने जिला प्रशासन को राहत आयुक्त के साथ समन्वय बनाकर स्थानीय स्तर पर आकाशीय बिजली के सम्बन्ध में अलर्ट जारी करने के निर्देश दिए।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोविड-19 के प्रति सतर्कता व बचाव करते हुए विकास योजनाओं को तेज गति से आगे बढ़ाने की जरूरत है, जिससे आम आदमी के जीवन में खुशहाली और प्रगति लायी जा सके। उन्होंने केन्द्रीय आवास एवं शहरी कार्य, नागरिक विमानन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री हरदीप सिंह पुरी की सांसद निधि से जनपद सोनभद्र में कराए जाने वाले कार्यों को समयबद्ध ढंग से पूर्ण कराते हुए लोकार्पण कराए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यह लोकार्पण केन्द्रीय राज्य मंत्री से संवाद करते हुए वर्चुअल माध्यम से कराया जाए। उन्होंने कहा कि जनपद सोनभद्र में एयरपोर्ट का निर्माण विकास के लिए आवश्यक है। यह जनपद आकांक्षात्मक जनपद है। इसमें अच्छे विकास कार्य हुए हैं। विकास कार्यों में और गति लायी जाए।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि जनपद स्तर के मामले जनपद स्तर पर तथा शासन से जुड़े प्रकरणों का शासन स्तर पर समयबद्ध ढंग से निस्तारण किया जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि किसी भी पटल पर 03 दिन से अधिक पत्रावली लम्बित न रहे। विभागीय मुख्यालय सहित अधीनस्थ कार्यालयों में पत्रावलियां 7 दिन से अधिक लम्बित न रहंे। उन्होंने कहा कि जनपद मीरजापुर और सोनभद्र में जी0एस0टी0 संग्रह में बेहतर है। यह योगदान महत्वपूर्ण है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि विकास योजनाओं का शिलान्यास या उद्घाटन जनप्रतिनिधियों द्वारा कराया जाए। कोविड-19 के संक्रमण के दृष्टिगत इसके लिए वर्चुअल माध्यम का प्रयोग भी किया जाए। विकास योजनाओं के शिलान्यास और उद्घाटन के शिलापट्ट में जनप्रतिनिधियों के नाम का उल्लेख हो। उन्होंने इस सम्बन्ध में शासन स्तर पर निर्देश जारी किए जाने की बात कही। पंचायत घर निर्माण की कार्यवाही जनप्रतिनिधियों के साथ समन्वय से करायी जाए। उन्होंने जिला प्रशासन को जनप्रतिनिधियों के साथ संवाद करते हुए विश्वास में लेकर कार्य किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधियों द्वारा संदर्भित प्रकरणों के सम्बन्ध में त्वरित निर्णय लेते हुए कार्यवाही की जाए तथा जन समस्याओं का निस्तारण किया जाए।
मुख्यमंत्री जी ने मण्डलायुक्त विन्ध्याचल तथा जनपद मीरजापुर, सोनभद्र व भदोही के जिलाधिकारियों से विकास कार्यों की प्रगति के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी प्राप्त की और आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। मण्डलायुक्त विन्ध्याचल ने मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया कि 50 करोड़ रुपए से अधिक की 08 परियोजनाएं निर्माणाधीन हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री जी को जनपद न्यायालय भदोही में 18 कोर्ट रूम निर्माण कार्य, राजकीय इंजीनियरिंग काॅलेज सोनभद्र, राॅबर्ट्सगंज नगर पालिका परिषद पुनर्गठन पेयजल योजना, राजकीय मेडिकल काॅलेज सोनभद्र, अटल आवासीय विद्यालय, वाराणसी-शक्तिनगर मार्ग के चैड़ीकरण व सुदृढ़ीकरण, अमृत योजना आदि के बारे में जानकारी दी। उन्होंने खाद की उपलब्धता तथा कोविड-19 के नियंत्रण व उपचार के सम्बन्ध में भी बताया।
जिलाधिकारी, मीरजापुर ने मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया कि जनपद में 10 से 50 करोड़ रुपए के मध्य की लागत की 12 परियोजनाएं संचालित हैं। हर घर नल योजना के तहत 05 विकास खण्डों का सर्वे कार्य पूर्ण हो चुका है। जिलाधिकारी, भदोही ने बताया कि जनपद में 10 से 50 करोड़ रुपए की लागत की 03 योजनाओं पर कार्य चल रहा है। जिलाधिकारी सोनभद्र ने कहा कि जनपद में 10 से 50 करोड़ रुपए की लागत की 13 परियोजनाएं निर्माणाधीन हैं।
इस अवसर पर मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी, कृषि उत्पादन आयुक्त श्री आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना श्री अवनीश कुमार अवस्थी, अपर मुख्य सचिव वित्त श्री संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव नियोजन एवं कार्यक्रम क्रियान्वयन श्री कुमार कमलेश, अपर मुख्य सचिव सिंचाई श्री टी0 वेंकटेश, अपर मुख्य सचिव उच्च शिक्षा श्रीमती मोनिका गर्ग, अपर मुख्य सचिव पंचायतीराज श्री मनोज कुमार सिंह, अपर मुख्य सचिव ऊर्जा श्री अरविन्द कुमार, अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा श्रीमती आराधना शुक्ला, अपर मुख्य सचिव एम0एस0एम0ई0 श्री नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री श्री एस0पी0 गोयल, प्रमुख सचिव आवास श्री दीपक कुमार, प्रमुख सचिव लोक निर्माण श्री नितिन रमेश गोकर्ण, प्रमुख सचिव पशुपालन श्री भुवनेश कुमार, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्री संजय प्रसाद, सचिव खनन श्रीमती रोशन जैकब, निदेशक सूचना श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
——-

Translate »