केन्द्रव्यवस्थापक अपने-अपने निर्धारित परीक्षा केन्द्रों के लिए बखूबी जिम्मेदारी निभाते हुए हर हाल में नकल विहीन परीक्षा करायें।

सोनभद्र-।राष्ट्र निर्माण के लिए, लिये गये संकल्प को निभाने हेतु केन्द्र व्यवस्थापक के साथ ही यू0पी0 बोर्ड परीक्षा से जुड़े अधिकारी व कार्मिकगण जिले मेंं नकल विहीन परीक्षा सम्पन्न करायें। पुलिस महकमा सुरक्षा कर्मियों की व्यवस्था व कक्ष निरीक्षकों की व्यवस्था जिला विद्यालय निरीक्षक व जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी सुनिष्चित करते हुए इम्तेहान की पाकीजगी को बनाये रखने के लिए सभी प्रभावी कदम उठायें। उक्त निर्देश जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम ने माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा हाई स्कूल व इण्टरमीडिएट वर्ष-2020 के सम्बन्ध में इम्तेहान के इन्तेजामात,प्रष्न-पत्र- उत्तर पुस्तिकाओं की सुरक्षा और कानून व्यवस्था की मुकम्मल तैयारियों सम्बन्धी परीक्षा व्यवस्था से जुड़े केन्द्र व्यवस्थापकों के समीक्षा बैठक में दिये। जिलाधिकारी ने जिले के सभी केन्द्र व्यवस्थापकों को दायित्वबोध कराते हुए कहा कि वे अपने-अपने निर्धारित परीक्षा केन्द्रों के लिए बखूबी जिम्मेदारी निभाते हुए हर हाल में नकल विहीन परीक्षा करायें। जिलाधिकारी ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देषित किया कि वे जिला विद्यालय निरीक्षक के मांग के मुताबिक कक्ष निरीक्षकों की व्यवस्था के साथ ही रिजर्व कक्ष निरीक्षकों की भी व्यवस्था सुनिष्चित करायें। उन्होंने केन्द्र व्यवस्थाओं के साथ पूरी सतर्कता के साथ परीक्षा को नकल विहीन कराने की हिदायत दी। जिलाधिकारी ने कहा कि किसी भी हाल में प्रष्न पत्र लीक न होने पायें। इम्तेहान के सेन्टरों में आवासीय व्यवस्था नहीं होगी। सी0सी0टी0बी0 की रिकार्डिंग शत-प्रतिषत सुरक्षित रखी जाय। एक महीने की क्षमता का डीवीडी सी0सी0 टी0बी0 की व्यवस्था रखी जाय। परीक्षा केन्द्र के अन्दर स्मार्ट मोबाइल पूरी तरह से प्रतिबन्धित रहेगा और मौडम सिस्टम से आन लाईन रिपोर्टिंग होगी। मौडम सिस्टम की क्षमता प्रतिदिन कम से कम तीन जी0बी0 की होनी चाहिए। बोर्ड परीक्षा के तैयारियों के सम्बन्ध में जिलाधिकारी श्री एस0 राजलिंगम ने बताया कि जिले में 18 फरवरी, 2020 से शुरू होने वाली बोर्ड परीक्षा जो 06 मार्च, 2020 तक चलेगी, में जिले के 193 स्कूलों के इम्तेहान देने वाले 46 हजार 14 परीक्षार्थी शामिल होंगे, जिसमें 45 राजकीय कालेज , 10 अषासकीय सहायता प्राप्त व 138 मान्यता प्राप्त स्कूलों के बच्चें शामिल होंगे। जिले में 71 एग्जाम सेन्टर बनाये गये हैं, जिसमेंं तहसील राबर्ट्सगज के अन्तर्गत 35, घोरावल में 14 व दुद्धी में 22 परीक्षा केन्द्र बनाये गये हैं। उन्होंने बताया कि हाई स्कूल के इम्तेहान में कुल 28 हजार 318 परीक्षार्थी शामिल होंगे, जिसमें 13 हजार 915 छात्र व 14 हजार 403 छात्राएं हैं। इसी प्रकार से इण्टरमीडिएट के कुल 17 हजार 696 परीक्षार्थी हैं, जिसमें 08 हजार 940 लड़के व 8 हजार 756 लड़किया एग्जाम में शामिल होंगीं। उन्होंने कहा कि जिले में 6 उड़ाका दलों के इन्तेजामात किये गये हैं। जिले के कुल 193 स्कूलों के 71 परीक्षा केन्द्रों के माध्यम से होने वाली परीक्षाओं की उत्तर पुस्तिका जमा करने के लिए 3 संकलन केन्द्र बनाये गये हैं और जिले में दो मूल्यांकन केन्द्र भी बनाये गये हैं। जिले को 20 सेक्टरों में बांटा गया हैं। जिले के 19 संवेनशीलल परीक्षा केन्द्रों व 02 अति संवेदनशील केन्द्रों पर खास नजर रखने के निर्देष दिये गये हैं। बोर्ड परीक्षा की तैयारी व केन्द्र व्यवस्थापकों के आयोजित समीक्षा बैठक में नोडल अधिकारी बोर्ड परीक्षा अपर जिला मजिस्ट्रेट योगेन्द्र बहादुर सिंह ने व्यवस्थाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी और जिला विद्यालय निरीक्षक श्री फूल चन्द द्वारा बिन्दुवार दायित्वबोध कराते हुए नकल विहीन परीक्षा कराने की मुकम्मल जानकारी दी। इस मौके पर केन्द्र व्यवस्थापकों के साथ ही अन्य सम्बन्धितगणों द्वारा उठाये गये सवालों का शंका समाधान किया गया। इस मौके पर जिलाधिकारी श्री एस0 राजलिंगम के अलावा अपर जिलाधिकारी श्री योगेन्द्र बहादुर सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक ओ0पी0 सिंह, जिला विद्यालय निरीक्षक फूल चन्द, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डा0 गोरखनाथ पटेल, विषेष कार्यपालक मजिस्ट्रेटगण, जिले के सभी केन्द्र व्यवस्थापकगण, सूचना विभाग के नेसार अहमद, अबुलेष सिद्दीकी सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी व कार्मिकगण आदि मौजूद रहें। ———————————

Translate »