अमेठी में पांच दशक तक एक ही परिवार ने राज किया, अमेठीवासियों की सेवा नहीं की-स्मृति ईरानी

काशी में प्रबुद्ध सम्मेलन में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी बोली कोरोना काल मे देश के प्रधान सेवक नरेंद्र मोदी देशवासियों के इस चिंता को दूर करते हुए असंभव को संभव कर दिया

पुरुषोत्तम चतुर्वेदी की रिपोर्ट

वाराणसी। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने शनिवार को वाराणसी रामकटोरा स्थित सरोजा पैलेस में आयोजित प्रबुद्ध सम्मेलन में लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि देश में विगत 7-8 वर्षों से प्रधान सेवक नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में चल रहा विकास यात्रा, मात्र विकास यात्रा ही नहीं बल्कि असंभव से संभव करने के प्रयास का यात्रा भी हैं। उन्होंने कहा कि अमेठी में पांच दशक तक एक ही परिवार ने राज किया, अमेठीवासियों की सेवा नहीं की। उन्होंने कहा कि काशी धन्य है कि इसे मां अन्नपूर्णा का आशीर्वाद प्राप्त है। मोदी-योगी युग के विकास गाथा का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि कोरोना ने जब देश में दस्तक दी तो लोगो की चिंता यही हुई कि संभव नहीं है कि 135 करोड़ के इस देश में लोगों का पेट भरा जायेगा और लोगों को बैक्सीन एवं इलाज के लिए दवाएं मिल जाएं। लेकिन देश के प्रधान सेवक नरेंद्र मोदी देशवासियों के इस चिंता को दूर करते हुए असंभव को संभव कर दिया। उन्होंने कहा कि एक-एक बैक्सीन में लोगों का जीवन छुपा हुआ है। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि पहले लोग विश्व गुरु होने एवं विकास की बात करते थे लेकिन गरीबों के इज्जत के लिए पिछली सरकारों ने चिंता नहीं की। प्रधान सेवक नरेंद्र मोदी ने गरीबों के इज्जत की चिंता करते हुए 20 करोड़ लोगों को शौचालय दिया। 08 करोड़ 12 लाख लोगों के घरों में शुद्ध पेयजल पहुंचाया। 2 करोड़ 20 लाख किसानों के खाते में किसान सम्मान निधि योजना अंतर्गत सीधे पैसा पहुंचाया। उन्होंने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि डिजिटल इंडिया के रूप में देश में भ्रष्टाचार पर सीधा अंकुश लगाया गया। डीबीटी के माध्यम से 8 करोड़ नकली लाभार्थियों पर अंकुश लगाकर प्रधान सेवक ने देश का 2 लाख करोड़ रुपए बचाए। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में जब पूरी दुनिया बंद था, तब भारत अपने विकास के पथ पर अग्रसर रहा और उस अवधि में 13 हजार किलोमीटर नेशनल हाईवे सड़क का निर्माण किया गया। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के पर्यटन, संस्कृति, धर्मार्थ कार्य एवं प्रोटोकॉल राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ0 नीलकंठ तिवारी ने लोगों का स्वागत करते हुए कहां की विधानसभा शहर दक्षिणी क्षेत्र काशी की केंद्र बिंदु है। बाबा विश्वनाथ इसी विधानसभा क्षेत्र में विराजते हैं। आधुनिक खड़ी हिंदी भाषा के जन्मदाता भारतेंदु हरिश्चंद्र की कर्मभूमि भी इसी विधानसभा क्षेत्र में हैं। बनारसी साड़ी का केंद्र भी इसी विधानसभा क्षेत्र में है। उन्होंने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि काशी बदल गई है और बदलते, चमकते व सवरते काशी के गवाह काशी के लोग हैं। आध्यात्मिकता को संजोते हुए भव्यता को बनाने के लिए हर क्षेत्र में कार्य प्रधानमंत्री के दिशा-निर्देशानुसार हो रहा है। चिकित्सा क्षेत्र का काशी हब बन चुका है। सड़कों के विकास की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि जब लोग रिंग रोड पर चलते हैं तो लोग यूरोप की कंट्री जैसी अनुभूति महसूस करते हैं। यहां की सड़कें सेल्फी प्वाइंट बन गए हैं। काशी विश्वनाथ धाम भव्य व दिव्य रूप में विकास कर रहा है। यह अब लोगों के सामने भव्यता के साथ सामने आ रहा है। काशी की गलियों का कंप्लीट डेवलपमेंट हुआ है। काशी रेलवे स्टेशन अद्भुत स्वरूप लेने की स्थिति में आ गया है। इस अवसर पर प्रदेश भाजपा सह प्रभारी सुनील ओझा, महानगर अध्यक्ष विद्यासागर राय, मीना चौबे सहित भारी संख्या में प्रबुद्ध जन उपस्थित रहे। संचालन आलोक श्रीवास्तव ने किया।

Translate »

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com