कोई भी क्षेत्र हो चरित्र का होना आवश्यक : न्यायमूर्ति

(डीसीए जालौन गोल्डन जुबली वर्ष) गुलमोहर को हराकर लखनऊ ने जीता नेशनल टूर्नामेंटउरई। डीसीए की गोल्डन जुबली वर्ष में आयोजित किए जा रहे नेशनल क्रिकेट टूर्नामेंट को एलसीए लखनऊ ने गुलमोहर को 82 रन से हराकर ट्रॉफी पर कब्जा किया।माननीय चीफ जस्टिस स्वर्गीय जगदीश भल्ला ट्रॉफी ऑल इंडिया क्रिकेट टूर्नामेंट और डॉ भारती श्रीवास्तव मेमोरियल स्टेट टूर्नामेंट के मुख्य अतिथि इलाहाबाद उच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति माननीय अजय भनोट जी और राज्य सूचना आयुक्त नरेंद्र कुमार श्रीवास्तव विशिष्ट अतिथि हैंडबॉल के महासचिव ओलंपिक के कोषाध्यक्ष डॉ आनंदेश्वर पांडे और रतन कुमार श्रीवास्तव पूर्व पुलिस उपमहानिरीक्षक रहे।मुख्य अतिथियों ने संयुक्त रूप से दोनो टीम खांडेकर क्रिकेट एकेडमी और क्रिकेट एकेडमी लखनऊ के खिलाड़ियों से परिचय प्राप्त कर मैच का शुभारंभ किया।न्यायमूर्ति अजय भनोट और आनंदेश्वर पांडे टीम से परिचय करते हुएइंदिरा स्टेडियम में आयोजित टूर्नामेंट में खिलाड़ियों को पुरस्कृत करते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट के न्यायमूर्ति अजय भनोट ने कहा कि कोई भी क्षेत्र हो उसमें चरित्र का होना बहुत आवश्यक है। कहा कि खेल ही एक ऐसा क्षेत्र होता है जिसमें भावानाएँ सबसे अधिक प्रबल होती हैं। नेशनल टूर्नामेंट के मुख्य अतिथि राज्य सूचना आयुक्त नरेंद्र कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि हार के बाद ही जीत है। इसलिए हारने वाली टीम को कभी हतोत्साहित नहीं होना चाहिए। पूर्व डीआईजी रतनकुमार श्रीवास्तव ने खेलों के विकास पर प्रसन्नता जताई। डेवलपमेंट कमेटी के चेयरमैन श्यामबाबू ने कहा कि डीसीए के गठन को इस वर्ष 50 वर्ष पूरे हुए। इस विकास यात्रा में सभी का सहयोग है और जिले क्रिकेट को हमेशा जारी रखा जाएगा उन्होंने कहा कि इन आयोजन के साथ भविष्य में चीफ जस्टिस माननीय स्वर्गीय जगदीश भल्ला लीग मैच का आयोजन डीसीए द्वारा कराया जाएगा साथ ही प्रत्येक वर्ष जिला स्तरीय एडवोकेट स्वर्गीय वीरेंद्र पाल सिंह आज का भी आयोजन होगा।डीसीए अध्यक्ष डॉक्टर देवेंद्र कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि क्रिकेट खिलाड़ियों को डीसीए हमेशा सहयोग करता है, आयोजन मे सभी को साथ रहने की और सहयोग करने की जरूरत है, और उभरते खिलाड़ियों को आगे आना चाईये जिससे खिलाड़ी जिले के साथ-साथ प्रदेश का भी नाम रोशन करें।
डीसीए की 50 वी वर्षगांठ के मौके पर पूर्व विधायक विनोद चतुर्वेदी डीसीए उपाध्यक्ष सुरेश निरंजन भैया जी ने डीसीए के 50 वर्ष के कार्यकाल की कई यादें ताजा की।
इस मौके पर डीसीए द्वारा 50 वर्ष की यादगार की चित्र प्रदर्शनी लगाई जिसका उद्घाटन भी न्यायमूर्ति अजय भनोट द्वारा किया गया
फोटो………
फाइनल मुकाबले में पहले खेलते हुए एलसीए लखनऊ ने 30 ओवर में 4 विकेट पर 199 रन बनाए। सर्वाधिक रन प्रबनूर ने 79 और विपरज ने 60 रन बनाये। गेंदबाजी करते हुए आदित्य ने 2 विकेट लिए।
गुलमोहर लखनऊ की शुरूआत ठीक नहीं रही। अकेले कमले आलम ही संघर्ष कर पाए। कमले आलम ने 66 रन बनाए। इसके अलावा हिमांशु के 22 रन रहे। गेंदबाजी में मिलन यादव को तीन और विपरज व अभिषेक को 2 -2 विकेट मिले। गुलमोहर की पूरी टीम 28 ओवर में 117 रन बनाकर 82 रन से फाइनल हार गई। स्टेट और नेशनल टीम की विजेता और उप विजेता टीमों को अतिथियों ने ट्रॉफी देकर सम्मानित किया गया।…विजेता टीम को पुरस्कृत करते हुए मुख्य अतिथिअम्पायरिंग डॉ. राकेश द्विवेदी, मुकीम खान और स्कोरिंग ब्रजेन्द्र सिंह और सलमान खान ने की।डीसीए द्वारा सभी सम्मानित अतिथियों सहयोगी यों और डीसीए सदस्य व पदाधिकारियों को गोल्डन जुबली शील्ड द्वारा सम्मानित किया गया, पुरस्कार वितरण समारोह का संचालन शरद श्रीवास्तव ने और आयोजन में सभी अतिथियों का स्वागत डीसीए सचिव विकास कुमार शर्मा ने किया
। इस अवसर पर पूर्व विधायक विनोद चतुर्वेदी, डीसीए अध्यक्ष डॉ देवेन्द्र कुमार, उपाध्यक्ष सुरेश निरंजन भैयाजी व शरद श्रीवास्तव, सचिव विकास शर्मा, डॉ. अविनाश सेंगर, विनय सेंगर, नीरज पाठक , आरएसओ झाँसी सुरेश बोनकर , सुरेंदर कौर, आयूब अहमद संजय सिंह, डॉ तारेश भाटिया, विनोद श्रीवास्तव, अनिल सिंदूर, अनिल दिवाकर, श्रीकांत,वीरेंद्र राजपूत, फिरोज अंसारी आदि उपस्थित रहे।

[/responsivevoice]

अपने शहर का अपना एप अभी डाउनलोड करें .

Loading...
Translate »

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com