दिवाली तक तैयार हो जाएगा पूर्वांचल एक्सप्रेसवे, सीएम योगी ने परखी निर्माण की गुणवत्ता, कहा- रोजगार भी मिलेगा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने परखी पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के निर्माण की गुणवत्ता
– पूर्वांचल एक्सप्रेसवे को बताया पूर्वांचल के लोगों को लाइफ लाइन

सुलतानपुर.।गोरखपुर से सुलतानपुर पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के निर्माण की गुणवत्ता परखने पहुंचे सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्वांचल एक्सप्रेस वे को पूर्वांचल के लोगों के लिए लाइफ लाइन बताया है। उन्होंने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का काम समय से पूरा होने जा रहा है। दीपावली तक हम इसे जनता को समर्पित कर देंगे। गोरखपुर से लखनऊ जाते समय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का उड़नखटोला सुलतानपुर हलियापुर पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के पास उतरा। उन्होंने कहा कि आज मैं पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के कार्यों की गुणवत्ता परखने और उसके कार्यों को नजदीक से देखने आया हूं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विश्वास जताया है कि पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का काम तेजी से गुणवत्तापूर्ण ढंग से समय पर हो रहा है। उन्होंने अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक भी की। पूर्वांचल एक्सप्रेस वे की परियोजना को 36 महीने में पूरा किया जाना है और इसे पूरा करने की समय सीमा अक्टूबर 2021 है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेसवे से के दोनों तरफ उद्योग विकसित किये जायेंगे, जिससे लोगों को रोजगार मिलेगा। लोगों को आवागमन में आसानी होने के साथ ही लोग रोजगार से भी जुड़ेंगे। पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का निरीक्षण करने के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में दो एक्सप्रेस वे पर और काम हो रहा है। उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड के विकास के लिए बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे और मेरठ से प्रयागराज तक गंगा एक्सप्रेस वे पर तेजी से काम शुरू होने वाला है।

340.824 किलोमीटर लंबा है पूर्वांचल एक्सप्रेस वे
सूबे की पूर्ववर्ती अखिलेश यादव सरकार के कार्यकाल के अंतिम दिनों में शुरू लखनऊ से बलिया तक पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का निर्माण किया जा रहा है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे लखनऊ-सुल्तानपुर रोड (एनएच-56) पर लखनऊ में स्थित ग्राम चंद सराय से शुरू होकर यूपी-बिहार सीमा के 18 किमी से पहले गाजीपुर जिले में राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-19 पर गांव दरिया के पास तक बनाया जा रहा है। इसकी कुल लंबाई 340.824 किमी है। यह पूरी तरह से नियंत्रित 06 लेन एक्सप्रेसवे है, जिसे बाद में 8 लेन तक का विकसित किया जा सकेगा। पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर 22,494.66 करोड़ (भूमि की लागत सहित) खर्च करना पड़ रहा है।

*यूपीडा पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का कर रही है निर्माण*
उत्तर प्रदेश एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीडा) पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का निर्माण कर रही है। यह एक्सप्रेस-वे उत्तर प्रदेश में अब तक बने सभी एक्सप्रेस-वे से लंबा है। इसके बनने से पूर्वांचल के पिछड़े जिलों का लखनऊ और देश की राजधानी दिल्ली तक सड़क मार्ग से तेजी से पहुंचना संभव हो सकेगा।

*एक्सप्रेसवे पर पड़ने वाले अन्य जिले*
1. लखनऊ, 2- बाराबंकी, 3- अमेठी, 4- सुलतानपुर, 5-अयोध्या, 6- अंबेडकरनगर, 7-आजमगढ़, 8-मऊ, 9-गाजीपुर

[/responsivevoice]

अपने शहर का अपना एप अभी डाउनलोड करें .

Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com