Wednesday , September 28 2022

46 फिट ऊंची माँ काली मंदिर दुद्धी की गुम्बद बना आकर्षण का केंद्र

दुद्धी।(भीमकुमार) क्षेत्र के मशहूर व आसपास के प्रांतों में आस्था के केंद्र के रूप में विख्यात दुद्धी की महारानी मां काली के मंदिर के जीर्णोद्धार का कार्य इन दिनों तेजी से चल रहा है| मंदिर जीर्णोद्धार समिति ने मातारानी के गुबंद एवं ऊपरी तल के जीर्णोद्धार करने की जिम्मेदारी महाराष्ट्र के गुबंद निर्माण विशेषज्ञ शिल्पकार संग्राम पवार को दिया है|

इस बाबत जीर्णोद्धार समिति के राजेन्द्र प्रसाद श्रीवास्तव,भोला बाबू आढ़ती,बालकृष्ण जायसवाल ने बताया कि मंदिर के गुबंद को लेकर बीते कई दशकों से चर्चा चल रही थी| काफी तलाशने के बाद इस शक्तिपीठ के गुबंद के निर्माण की जिम्मेदारी महाराष्ट्र के शिल्पकार को दी गई है| छियालीस फिट ऊंची गुबंद निर्माण में करीब 18 लाख रूपये व्यय होने की संभावना जताई गई है| इसके लिए मंदिर परिसर में दानपेटी के साथ ही समिति के पदाधिकारीगण लोगों से सहयोग राशि एकत्र कर रहे है| संभावना जताई जा रही है कि करीब दो माह में गुबंद अपने मूर्त रूप में आ जाएगा| इसके बाद तहसील मुख्यालय के लगभग हर कोने से मंदिर की गुबंद एवं झंडा लोगों को दिखने लगेगा| इसके निर्माण में होने वाले खर्चे में सहयोग देने के लिए लोगों का तांता लगा हुआ है| स्थानीय के साथ बाहरी लोग भी बढ़चढ़ कर सहयोग करने में लगे हुए है|

Translate »