बेलवादह के आदिवासी पी रहे फ्लाई ऐश का पानी स्वराज अभियान की टीम ने किया दौरा


सीएसआर में नहीं निभा रहा जिम्मेदारी अनपरा प्रबंधन
डीएम और मानवाधिकार आयोग को देंगे पत्रक
अनपरा, सोनभद्र, 15 फरवरी, 2020। बेलवादह गांव के कैम्हा टोला के खरवार आदिवासी आज भी अनपरा तापीय परियोजना से निकली फ्लाई ऐश के पानी को चुआड से पीने के लिए मजबूर है।

जबकि जनपद में सीएसआर के तहत विकास कराने और एनजीटी के आदेशों को लागू कराने की बड़ी-बड़ी बातें प्रशासन और प्रबंधन करता है। इन आदिवासियों के प्रति कारपोरेट सामाजिक दायित्वों के तहत कोई जिम्मेदारी अनपरा तापीय परियोजना का प्रबंधन नहीं उठा रहा है। यहां तक कि अनपरा परियोजना के सिविल विभाग के अधिशासी अभियंता ने खुद एसडीएम दुद्धी के नेतृत्व में गयी टीम ने हाईकोर्ट के निर्देश पर इस गांव में दौरा किया था। परन्तु उन्हे यहां की दुर्दशा नहीं दिखी। यहीं नहीं इसी गांव से जिला पंचायत सदस्य है पर वह भी इस पर मौन है। यह बातें आज श्रम बंधु और स्वराज अभियान के नेता दिनकर कपूर ने इस गांव का दौरा करने के बाद प्रेस को जारी अपनी विज्ञप्ति में दी। स्वराज अभियान की टीम ने बेलवादह के सौ खरवार आदिवासी लोगों की इस बस्ती का दौरा किया। टीम ने राम प्रसाद खरवार, पूरन खरवार, चोलमनी खरवार, बृजलाल खरवार समेत कई ग्रामीणों से बात की। टीम में स्वराज अभियान नेता राजेश सचान, मजदूर किसान मंच के जिला सचिव रमेश सिंह खरवार, आदिवासी नेता हरीनाथ खरवार, ठेका मजदूर यूनियन के जिला मंत्री तेजधारी गुप्ता, विजय विश्वकर्मा, रंजीत जायसवाल आदि लोग रहे। टीम ने इस गांव की हालात के बारें में डीएम और मानवाधिकार आयोग को पत्रक भेजने का निर्णय लिया है। जिसमें गांव में तत्काल सोलर वाटर फिल्टर प्लांट लगाकर शुद्ध पेयजल देने की मांग की जायेगी।

टीम को ग्रामीणों ने यह भी बताया कि अनपरा तापीय परियोजना के ऐश बांध की ऊंचाई बढायी जा रही है। जिससे हमारे घर व खेती डूब जायेगी। वहां के ग्रामीणों ने वनाधिकार कानून के तहत मिले पट्टों को दिखाते हुए बताया कि इस विस्थापन का हमें कोई मुआवजा भी नहीं दिया जा रहा है। एसडीएम ने पिछले माह दौरे के बाद 15 दिन में कार्यवाही का आदेश दिया था जो आज तक लागू नहीं हुआ। ग्रामीणों ने यह भी बताया कि फ्लाई ऐश के अंदर बनाएं चुआड का पानी पीने से लगातार लोग बीमार हो रहे है। पिछले माह ही एक व्यक्ति की टीबी से मौत हो चुकी है। लेकिन इलाज का कोई इंतजाम नहीं है। गांव में एक भी हैण्डपम्प नहीं लगा है। इन ग्रामीणों आश्वस्त करते हुए स्वराज अभियान नेता दिनकर कपूर ने कहा कि इस हालत को हर हाल में बदला जायेगा और हर स्तर पर आवाज उठाकर कार्यवाही करायी जायेगी।

Translate »