Wednesday , September 28 2022

चैतनवरात्रि पर लगने वाले परम्परागत प़ाचीन पाक्षिक मेंले की अंतिम निलामी बोली बारह लाख बावन हजार  में मंजय शाह के नाम हुई

शक्तिनगर (सोनभद़)।
उर्जाचंल की शक्तिपीठ मां ज्वालामुखी मंदिर के प़ांगण में चैतनवरात्रि पर लगने वाले परम्परागत प़ाचीन पाक्षिक मेंले की अंतिम निलामी बोली बारह लाख बावन हजार में मंजय शाह के नाम हुई। यह नीलामी बोली विगत वर्ष से तीन लाख 42 हजार रुपये अधिक की हुई।
ज्वालामुखी मंदिर प़ागंण में चैत नवरात्रि पर परम्परागत पाक्षिक मेला लगता है।इस मेले की ग़ाम पंचायत एवं तहसील दुद्दी के संयुक्त उपस्थिति में निलामी बोली सम्पन्न होती है। गुरुवार की मध्याह्न ग़ामप़धान चिल्काटाँड़ रविन्द़ यादव की अध्यक्षता मे तहसीलदार दुद्दी शशिभूषण मिश्रा की उपस्थिति में ज्वालामुखी धर्मशाला प़ांगण में मेले की निलामी बोली का आयोजन किया गया। तहसीलदार दुद्धी ने निलामी बोली प़ारम्भ होने से पहले बोली बोलने वालों के लिए बोली बोलने की पन्द़ह शर्तों को पढ़ कर सुनाया। निलामी बोली में भाग वाले पांच लोग अयोध्यागुप्ता, ओमप़काश गिरी, मंजय शाह, अजीत अग़हरी, एवं चिन्टू शाह ने पचास-पचास हजार रुपया अग़ीम जमानत राशि जमा करने के बाद निलामी बोली बोलना प़ारम्भ किए।अयोध्यागुप्ता ने 687000 से पहली बोली बोलना प़ाम्भ किया जो कई राउण्ड के बाद 1252000 पर मंजय शाह के नाम पर बन्द हुई। मेले की विगत वर्ष 910000 की अंतिम बोली बोल कर मेले का ठेका लेने वाले ओमप्रकाश गिरी इस बार 1247000 पर ही रुक गये। इस अवसर पर थाना प़भारी आशीष सिंह, लेखपाल सुरेश पाण्डेय, ग़ाम विकास अधिकारी राज बहादुर, अपनादल के जिला उपाध्यक्ष अनिल पाण्डेय, सपा नेता मोहन गुप्ता, बीडीसी सदस्य रंजीत कुशवाहा आदि उपस्थित रहे।

Translate »