कट सकता है नीरज का दूसरा हाथ, प्रभारी मंत्री का मदद का आश्वासन कोरा साबित

विण्ढमगंज/सोनभद्र(प्रभात कुमार)हाईटेंशन तार के चपेट में आ जाने से अपना एक हाथ और एक पैर गवां चुके  उच्च प्राथमिक विद्यालय मेदनीखाड का  छात्र  नीरज की मदद के लिए प्रभारी मंत्री अर्चना पांडे ने भरोसा7 दिन बीत जाने बाद भी नहीं मिला  दिलाया है नीरज की हालत अभी भी चिंताजनक बनी हुई है उसके  दूसरे हाथ में भी संक्रमण फैल तेजी से फैल रहा है , बीएचयूू के डॉक्टरों ने नीरज के दूसरे हाथ काटने के संकेत दे चुके हैं  वहीं कटे हुए हाथ पैर  के जख्म  कुछ सूखे है लेकिन गर्दन के नीचे एक बड़ा जख्म हो रहा है।
  57 दिन बीत जाने के बाद भी अभी तक कोई भी सरकारी मदद नीरज के परिजनों को नहीं मिला है 55दिनों से  बनारस के बीएचयू हॉस्पिटल में  भर्ती नीरज की हालत अब भी चिंताजनक बनी हुई है  BHU डॉक्टर  नीरज के शरीर मे फैलने इन्फेक्शन को रोकने के लिए  2 जनवरी को  नीरज का एक हाथ और एक पैर काट दिया था,हाथ पैर काटने के बाद डॉक्टरों  को उम्मीद थीं कि नीरज का जख्म तेजी से सूखे लगेगा, लेकिन  नीरज के हाथ पैर केजख्म  सुख नहीं रहे हैं  नीरज के पिता   विजय ने बताया कि अभी तक कोई भी सरकारी मदद नहीं मिली है  नीरज के दूसरे आप हाथ के ऑपरेशन के लिए भी डॉक्टरों ने पैसा जुटाने के लिए कहा है जो लोगों से मदद मिली थी  वह सभी समाप्त हो चुका है मेरे पास भी पैसा अब नहीं बचा नीरज का इलाज कैसे होगा समझ में नहीं आ रहा है
जनवरी के अंतिम सप्ताह में
जनपद के दौरे पर आए  प्रभारी मंत्री अर्चना पांडे ने प्रभारी मंत्री व खनन मंत्री  अर्चना पांडे  से  जब पत्रकारों ने नीरज  के मुद्दे को उठाया तो  उन्होंने  तत्काल नीरज की मदद करने का भरोसा दिलाया  लेकिन अभी तक मदद नही मिला है वही शिक्षक बिहारी लाल ने नीरज की मदद के लिए सोशल मीडिया पर एक भावनात्मक अपील करते हुए नीरज को पुनः मदद देने की अपील की है
विण्ढमगंज सोनभद्र मुख्यमंत्री के पोर्टल पर नीरज के मदद के लिए गुहार लगाने के  26 दिन बीत जाने के बावजूद थी आज तक कोई मदद नहीं मिली सन क्लब सोसायटी के संयोजक प्रभात कुमार ने  6 जनवरी मुख्यमंत्री के पोर्टल आवेदन संख्या 40020019000345पर  नीरज के परिजनों को इलाज के सरकारी सहायता देने की गुहार लगाई थी जिस पर मुख्यमंत्री कार्यालय ने अधिशासी अभियंता विद्युत सोनभद्र को आवेदन पत्र प्रेषित कर दिया था 13 जनवरी तक इस मामले के निस्तारण करने की तिथि निर्धारित की गई थी लेकिन 25दिन बाद.29 जनवरी को निस्तारण के नाम पर केवल  अधिशासी अभियंता पिपरी केद्वारा  यह आश्वासन दिया गया कि नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी  प्रभात कुमार 18 को फिर से  मुख्यमंत्री के पोर्टल पर आवेदन संख्या40020019000922 फिर से आवेदन किया जिस पर प्रभारी चिकित्सा अधिकारी वर्ल्ड परिवार कल्याण दुध्दी को अग्रिम कार्रवाई हेतु प्रेषित कर दिया गया लेकिन 15दिन बीत जाने के बावजूद आज तक कोई कार्यवाही नहीं की गई
पैसा क्या भाव के कारण नीरज का बेहतर इलाज भी नहीं हो पा रहा है क्योंकि नीरज के परिजन काफी करीब हैं अभी तक जो नीरज का इलाज चल रहा है वह  सरकारी अध्यापक के मदद और स्थानीय लोगों के चंदा जुटाए हुए  पैसे से चल रहा है

Translate »

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com