प्रभारीमंत्री अर्चना पाण्डेय जिले के विकास कार्यो की किया समीक्षा बैठक

सोनभद्र(सीके मिश्रा) प्रभारी मंत्री/प्रदेश की राज्य मंत्री भूतत्व एवं खनिकर्म, आबकारी व मद्यनिषेध विभाग अर्चना पाण्डेय ने सोमवार को कलेक्ट्रेट मीटिंग हाल में जिले की समीक्षा बैठक किया।समीक्षा बैठक के दौरान मंत्री ने कहा कि ‘‘सबका साथ, सबका विकास‘‘ के आधार पर जनता की सेवा करना हैं, दफ्तर के साथ ही अधिकारियों को क्षेत्र में जाना होगा। जनप्रतिनिधि व अधिकारी समन्वय के साथ कार्य करने के लिए एक होकर जनता की सेवा करें, तभी नागरिकों का भला होगा। जनप्रतिनिधियो के सुझाव को अधिकारी सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर योजनाओं में शामिल करें और जनता के शिकायतों का गुणवत्ता पूर्ण निस्तारण सुनिश्चित किया जाय। अधिकारी अपने विनम्र व्यवहार का परिचय नागरिकों में दें और चलायी जा रही योजनाओं की सूची भी सभी जनप्रतिनिधियों को उपलब्ध करायें। बिजली विभाग बिना देर किये अपने कार्य एवं आचरण में सुधार लाये अन्यथा कार्यवाही के लिए तैयार रहें।

image

   समीक्षा के दौरान विधायकगणों द्वारा बिजली विभाग के कारगुजारी की शिकायत करने पर बिजली विभाग के अधिकारियों को कड़ी फटकार लगायी और बिना किसी देर किये कार्य आचरण में सुधार लाने के साथ ही बिजली व्यवस्था को दुरूस्थ करने की नसीहत दी। राज्य मंत्री जी ने  जनप्रतिनिधियों के सुझाव पर 5ए राज्य मार्ग के साथ ही विशेष रूप से राबर्ट्सगंज शहर से जुड़े फ्लाईओवर/सड़क की पटरी व पानी निकास के निर्देश सम्बन्धितों को दिये। उन्होंने कहा कि बरसात को देखते हुए अधूरे कार्यों को जल्द से जल्द पूरा करने के साथ ही आवश्यक कार्यां को कार्ययोजना में शामिल कराते हुए, नागरिकों को सभी अनुमन्य सुविधाएं प्रदान किया जाय। उन्होंने कहा कि शहरी इलाकों में बिजली, पानी सड़क के साथ ही साफ-सफाई करायें। जिले की चार विधान सभाओं से एक-एक नगर पंचायतों को आदर्श नगर पंचायत बनाये जाने के प्रस्ताव शासन स्तर पर भेजवायें। उन्होंने समीक्षा करते हुए कहा कि नजूल भूमि के प्रकरण प्राथमिकता के आधार पर निस्तारित किया जाय। उन्होंने कहा कि गुरमा रेंज के लापरवाह रेंजर के कार्यां की जॉच की जाय। जिले को ओडीएफ करने के लिए लगातार मेहनत की जाय। समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी अमित कुमार सिंह ने मंत्री जी को भरोसा दिलाते हुए कहाकि प्राप्त दिशा-निर्देशों के अनुरूप जिले का चतुर्दिक विकास कराते हुए जिले को क्रिटिकल की श्रेणी से बाहर किया जायेगा।
    मंत्री जी ने कर एवं करेत्तर राजस्व संग्रह, भू-माफियाओं तथा अतिक्रमणकर्ताओं के विरूद्ध प्राप्त शिकायत का विवरण, भू-माफियाओं तथा अतिक्रमणकर्ताओं के विरूद्ध प्राप्त शिकायत का विभागवार विवरण, गृह/पुलिस विभाग द्वारा भू-माफियाओं के विरूद्ध की गयी कार्यवाही, राजस्व वादों का निस्तारण, लोकवाणी/जन सेवा केन्द्रों के माध्यम से जारी होने वाली राजस्व विभाग की सेवाओं की स्थिति, विभिन्न प्रकार की दैवी आपदाओं से प्रभावित व्यक्तियों हेतु राहत उपाय, सम्पूर्ण समाधान दिवस, चकबन्दी वादों का निस्तारण, आईजीआरएस, चिकित्सकों की उपलब्धता, दवाओं की उपलब्धता, एम्बुलेंस सेवाओं की स्थिति, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (वित्तीय प्रगति), संस्थागत प्रसव, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (जननी सुरक्षा योजना), टीकाकरण, वेक्टर जनित रोग, अधूरे निर्माण कार्योंं की प्रगति, राज्य/14वें वित्त आयोग, छात्रवृत्ति योजना (पूर्व दशम कक्षा-1 से कक्षा-10 तक), छात्रवृत्ति का वितरण, दशमोत्तर छात्रवृत्ति, पेंशन योजना, 181 महिला हेल्प लाइन, महात्मा गॉधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार योजना, प्रधान मंत्री ग्राम्य सड़क योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल मिशन (निर्माणाधीन स्वीकृत ग्रामीण पाइप्ड, पेयजल योजना ), राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल मिशन, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना, नई सड़कों का निर्माण, ओडीआर/एमडीआर/राज्य मार्गों के अनुरक्षण की स्थिति, सेतुओं का निर्माण, सड़कों को गढ्ढा मुक्त किया जाना, नगरों की स्ट्रीट लाईट व्यवस्था, अपशिष्ट प्रबन्धन, नमामी गंगे योजना, कक्षा-8 तक के सभी छात्रों को किताबें व युनिफार्म का वितरण, छात्रों का नामांकन, गंन्ना भुगतान, सरकार की मंशा के अनुसार 24/20/18 घंटे विद्युती आपूर्ति, ग्रामों का ऊर्जीकरण, ट्रान्सफार्मरों का प्रतिस्थापन, नये विद्युत कनेक्शन के लक्ष्य के सापेक्ष प्रगति, पारदर्शी किसान सेवा योजना (पंजीकरण की प्रगति), पारदर्शी किसन सेवा योजना (डीबीटी की प्रगति), मृदा स्वास्थ्य कार्ड वितरण योजना, बर्मी कम्पोस्ट यूनिट स्थापना, खाद की उपलब्धता एवं वितरण, बीज की उपलब्धता एवं वितरण, फसली ऋण मोचन योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) शहरी, आईसीडीएस (मनरेगा), पंचायतीय राज एवं आईसीडीएस विभाग के कन्वर्जेन्स के माध्यम से आंगनबाड़ी केन्द्र भवन का निर्माण, 50 लाख रूपये से अधिक निर्माण कार्यों (सड़कों को छोड़कर), अवैध खनन के विरूद्ध कार्यवाही, कार्यदायी संस्था से रायल्टी, अवैध परिवहन, स्वच्छ भारत मिशन, निर्माण एवं खुले में शौच मुक्ती (ग्रामीण/शहरी), स्वच्छ भारत मिशन ओडीएफ घोषित ग्रामों की प्रगति, नहरों में टेल तक पानी पहुंचाना (सिल्ट सफाई) आदि कार्यों की समीक्षा की।
    समीक्षा बैठक में  सांसद  छोटेलाल खरवार, अध्यक्ष जिला पंचायत अमरेश सिंह पटेल,  विधायक सदर भूपेश चौबे,  विधायक घोरावल डॉ0 अनिल कुमार मौर्या,  विधायक ओबरा  संजीव कुमार गौंड़, जिलाध्यक्ष भाजपा अशोक मिश्रा आदि ने रचनात्मक सुझाव प्रस्तुत किये। इस मौके पर जिलाधिकारी अमित कुमार सिंह, पुलिस अधीक्षक आर0पी0 सिह, अपर जिलाधिकारी  उमाकान्त त्रिपाठी, सीएमओ डॉ0 एस0पी0 सिंह, जिला विकास अधिकारी  आर0बी0 त्रिपाठी, परियोजना निदेशक आर0एस0 मौर्या, प्रभागीय वनाधिकारी,सोनभद्र  संजीव कुमार सिंह, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी रामानन्द सहित विभाग के अन्य सम्बन्धितगण मौजूद रहें।

Translate »

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com