मानसून की बेरूखी से किसान हुए चिंतित,तिलहन दलहन की खेती में आई संकट

0

@भीमकुमार

image

दुद्धी। तहसील क्षेत्र में बीती रात से बूंदा बांदी हो रही बारिस से किसानों की मुश्किलें बढ़ा दिया है। इन दिनों किसानों के खेत मे अरहर, सरसों,चना,मसूरी जैसे अनाज को होने वाले बारिस से नुकसान हो रहा है जिससे किसान अधूरे मन से चिंतित है। जब कि गेँहू की फसल में हो रहे बारिस से लाभ होगा क्योंकि बारिस से गेँहू में दुबारा पानी का उपयोग नही करना पड़ेगा जब कि इसके पूर्व में बारिस से गेँहू में एक बार पानी मिल चुका है ज्यादा से ज्यादा किसान एक बार अपनी गेँहू के खेतों में समरसेबल या मोटर से पानी सिंचाई किया होगा।
गौरी शंकर कुशवाहा निवासी घिवहि ने बताया कि हमारे यहाँ की फसलें में अरहर और सरसों में नुकसान हो रहा है। गलिमत यही है कि गेँहू की फसल में सिचाई करने की आवश्यकता नही होगी जिससे गेँहू में पैदावार बढ़ने की उम्मीद है।
धनौरा ग्राम निवासी किसान सुग्रीव प्रसाद ने बताया कि इन दिनों की बारिस में मटर,चना,मसूर सहित तिलहन व दलहन की खेती में किसानों को भारी नुकसान होगा क्योंकि तिलहन दलहन खेती का अंतिम रूप इस समय हो रहा है। जबकि गेँहू की फसल में अच्छा लाभ होगा।

image

सोनभद्र जिलाकृषि अधिकारी पीयूष रॉय ने बताया कि जनपद में लगभग 1 लाख 6 हजार हेक्टेयर में तिलहन,दलहन एवं गेँहू की फसल बोया गया है। जिसमे 55 हजार हेक्टेयर में गेँहू की फसल बोया गया है। और 15 हजार हेक्टेयर में चना,12 हजार हेक्टेयर में सरसों सहित अन्य तिलहन,दलहन के साथ किसानों ने अपनी अपनी खेतों में फसल बोया है जिसमें सबसे ज्यादा नुकसान किसानों को तिलहन व दलहन की खेती में होगा।

Share.

About Author

Leave A Reply

error: Content is protected !!