फूड ऐप के जरिए ऑर्डर किया था खाना, करीब आधा खाने के बाद जब पैकेट देखा तो अपनी आंखों पर नहीं हुआ यकीन, युवक ने फेसबुक पर दोस्त से शेयर किया ये बुरा अनुभव

0





चेन्नई. तमिलनाडु के चेन्नई में एक शख्स के लिए फूड ऐप से खाना ऑर्डर करना बहुत बुरा अनुभव दे गया। शख्स ने खाने में चिकन शेजवान चौपसी ऑर्डर की थी। इसे करीब आधा खाने के बाद फूड पैकेट के अंदर से खून लगा बैंडेज मिला, जिसे देखते ही शख्स बेचैन हो गया। इसे लेकर उसने रेस्टोरेंट और स्विगी से कॉन्टैक्ट करने की कोशिश की, पर रेस्टोरेंट मामले को लेकर संवेदनशील नहीं दिखा। वहीं, स्विगी ऐप की कस्टमर केयर सर्विस से उसे कोई जवाब नहीं मिला। इसके बाद शख्स ने ये बुरा अनुभव फेसबुक पर शेयर किया। अब पोस्ट वायरल होने के बाद उसे स्विगी से जांच का भरोसा मिला है।

खाने के पैकेज से मिला ब्लड वाला बैंडेज
– चेन्नई के रहने वाले बालमुरुगन दीनदयाल ने रविवार को स्विगी ऐप से चॉप एन स्टिक्स रेस्टोरेंट से फूड ऑर्डर किया था। उन्होंने खाने में चिकन शेजवान चॉपसी मंगवाई थी।
– मुरुगन ने बताया कि उन्होंने खाना आधा ही खत्म किया था कि तभी पैकेट के अंदर से ब्लड लगा एक बैंडेज मिला। ये देखते मुरुगन के होश उड़ गए।
– पोस्ट के मुताबिक, इसके बाद मुरुगन ने रेस्टोरेंट से कॉन्टैक्ट किया लेकिन वो इस घटना को लेकर वहां का प्रबंधन जरा भी संवेदनशील नहीं दिखा।
– मुरुगन के मुताबिक, रेस्टोरेंट ने बस खाने के लिए रिप्लेसमेंट का ऑफर दिया। भला इस तरह का दूषित खाना दोबारा कौन खाना चाहेगा।
– इसके बाद उन्होंने फूड ऐप स्विगी से कॉन्टैक्ट करने की कोशिश की लेकिन डिलिवरी किए खाने के लिए ऐप के जरिए कॉल करने का कोई ऑपर्शन नहीं है। उसमें सिर्फ चैट का ऑप्शन मौजूद है, लेकिन वहां भी कोई जवाब नहीं मिला।
– मुरुगन ने आगे लिखा, ''बेसिक हाईजीन का भी ध्यान न रखने वाले रेस्टोरेंट को पार्टनर बनाने के लिए वो स्विगी और रेस्टोरेंट दोनों के खिलाफ की मुकदमा करना चाहते हैं।''

पोस्ट वायरल होने पर मिला ये जवाब
– मुरपगन की फेसबुक पोस्ट वायरल होने के बाद स्विगी की तरफ से उनकी पोस्ट पर रिएक्शन देते हुए माफी मांगी और जांच का भरोसा दिलाया।
– स्विगी की ओर से अदनान ने पोस्ट पर कमेंट किया और लिखा, ''हम आपको भरोसा दिलाते हैं कि हम यकीनन रेस्टोरेंट को लेकर कड़ी जांच करेंगे, ताकि यह पता लगाया जा सके कि किस वजह से ये हादसा हुआ।
– वहीं चॉप एन स्टिक्स के असिस्टेंट मैनेजर शंकर ने मामले पर रिएक्शन देते हुए कहा हमारी ओर से रिफंड की पेशकश की थी। कस्टमर से हमने सीधी बात की और हमनें ऐसी गलती न दोहराने का भरोसा दिलाया है, वो हमारे रेगुलर कस्टमर हैं।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today



Source link

Share.

About Author

Leave A Reply

error: Content is protected !!