सीएमडी श्री पी.के. सिन्हा ने किया ब्लॉक बी और अमलोरी कोयला क्षेत्रों का दौरा

0

image

सिगरौली।कंपनी के निदेशक (तकनीकी/संचालन) श्री गुणाधर पांडेय एवं निदेशक (तकनीकी/परियोजना एवं योजना) श्री पी. एम. प्रसाद के साथ किया दौरा

कोयला उत्पादन कार्यों सहित परियोजनाओं की भावी योजनाओं की समीक्षा की, दिए कई आवश्यक निर्देश

भारत सरकार की मिनी रत्न कंपनी नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (एनसीएल) के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक (सीएमडी) श्री पी.के. सिन्हा ने सोमवार को कंपनी के ब्लॉक बी तथा अमलोरी कोयला क्षेत्रों का दौरा किया। दौरे में कंपनी के निदेशक (तकनीकी/संचालन) श्री गुणाधर पांडेय तथा निदेशक (तकनीकी/परियोजना एवं योजना) श्री पी.एम. प्रसाद उनके साथ थे। साथ ही, अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक के तकनीकी सचिव श्री पी.के. बिश्वाल, महाप्रबंधक (सिविल) श्री ए.के. चौधरी, विभागाध्यक्ष (आरएंडआर) श्री मृत्युंजय मिश्रा तथा कॉरपोरेट प्लानिंग विभाग की टीम उनके साथ थी।

कंपनी के ब्लॉक बी कोयला क्षेत्र के दौरे के दौरान सीएमडी श्री सिन्हा ने सर्वप्रथम ब्लॉक बी के क्षेत्रीय महाप्रबंधक श्री के. चंद्रा से ब्लॉक बी परियोजना के भावी विस्तार योजनाओं के बारे में परियोजना की तैयारी की विस्तृत जानकारी उनके कार्यालय में ली तथा उन्होंने ब्लॉक बी वार्षिक कोयला उत्पादन क्षमता को बढ़ाकर 8 मिलियन टन किए जाने से संबंधित विस्तार स्थल का निरीक्षण भी किया। उन्होंने परियोजना के विस्तार कार्यों को गति दिए जाने हेतु आवश्यक निर्देश भी दिए।

इसके पश्चात सीएमडी एवं निदेशक मंडल ने अमलोरी क्षेत्र का दौरा किया और वहां क्षेत्रीय महाप्रबंधक श्री एस.के. गोमास्ता एवं उनकी टीम के साथ अमलोरी खदान का निरीक्षण किया एवं वहां ड्रैगलाइन ऑपरेशंस का विशेष तौर पर मुआयना किया। साथ ही, उन्होंने अमलोरी खदान में स्थित टाइम ऑफिस पर उपस्थित कामगारों से उन्हें मिलने वाली कल्याणकारी सुविधाओं सहित कामकाज से जुड़े विभिन्न पहलुओं पर तफसील से बातचीत की। कंपनी द्वारा दी जाने वाली सुविधाओं पर खुशी जताते हुए कामगारों ने सुझाव दिए कि यदि अमलोरी में डंपरों की संख्या में और इजाफा किया जाए तो यह परियोजना बड़े लक्ष्यों को आसानी से हासिल कर लेगी, जिसे संज्ञान में लेते हुए उन्होंने आवश्यक निर्देश दिए। अमलोरी दौरे के दौरान सीएमडी श्री सिन्हा और निदेशक मंडल ने अमलोरी टाइम ऑफिस स्थित शौचालय का औचक निरीक्षण किया और शौचालय को स्वच्छ पाया। शौचालय की स्वच्छता पर खुशी जाहिर करते हुए उन्होंने एक बार फिर स्वच्छ भारत मिशन के प्रति एनसीएल की कटिबद्धता दोहराई। गर्मी के मौसम को देखते हुए उन्होंने अमलोरी खदान में कामगारों के लिए मॉर्डर्न रेस्ट शेल्टर बनाए जाने के विशेष निर्देश देते हुए कहा कि ये रेस्ट शेल्टर ऐसे बनाए जाएं, जो आने समय में कंपनी की अन्य कोयला परियोजनाओं के लिए नजीर साबित हो सके।

Share.

Leave A Reply

error: Content is protected !!