स्थानीय नदी नाले जंगल पहाड़ का मैटेरियल चुरा कर बना दिया लाखों का छलका

0

image

*रामजियावन गुप्ता*

—-  महुली में लघुसिचाई बिभाग का  खुला खेल

बीजपुर (सोनभद्र) म्योरपुर ब्लाक के महुली गाँव में लघुसिचाई बिभाग द्वारा बनवाये जा रहे लाखों रूपये के छलका निर्माण में बड़े पैमाने पर घपला करने का समाचार प्राप्त हुआ है।ग्रामीण सुरेश, रामजन्म, सुरेन्द्र , राजबली सहित तमाम लोगों का कहना है कि महुली गाँव के चमर नदिया नाले पर बनवाये जा रहे  लाखो रूपये की लागत से  छलका निर्माण में वन विभाग और लघुसिचाई विभाग की मिली भगत  से स्थानीय वन पहाड़ ,नदी नाले और जंगल से खनन कर के घटिया किस्म का बालू,बोल्डर, गिट्टी, तथा अन्य सामग्री का उपयोग किया जा रहा है जिससे छलका निर्माण की गुडवक्ता पर ही प्रश्न चिन्ह खड़ा हो गया है। इतना ही नही अबैध खनन से जंगलों तथा वन पहाड़ की सूरत भी कुरूप होती जा रही है जन चर्चा पर गौर करें तो ऐसे लोग ही एन जी टी के आदेश की धज्जियां उड़ा कर चन्द रुपयों की लालच में सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं को पलीता भी लगा रहे हैं लोगों का आरोप है कि सत्ताधारी दल का अपने को नेता बताने वाला एक  ठीकेदार  विभाग के जेई  और स्थानीय वन बिभाग की मिली से सरकार के विकाश परक योजना को चूना लगा रहा है।लोगों द्वारा इसका विरोध करने पर ठीकेदार खुले आम चैलेन्ज करता है कि जहाँ शिकायत करनी हो करलो कोई कुछ भी बिगाड़ नही सकता।लोगों ने इसबाबत विभाग के जेई को फोन कर के शिकायत भी की है लेकिन निर्माण कार्य की गुडवक्ता  में कोई भी सुधार नही हुआ लोगों ने बताया कि अब लोग डीएम से मिल कर शिकायत करें गें और जाँच करा कर दोषियों के विरुद्ध करवाई की माँग  करें गें ।इस बाबत क्षेत्रीय  जेई लघुसिचाई आर , के, कुशवाहा से जब जानकारी मांगी गयी तो उनका कहना है कि मानक के विपरीत काम नहीं होगा अगर ठीकेदार  मनमानी करता है तो निर्माण कराया हुआ कार्य  जे सी बी मशीन से तोड़ कर पुनः काम कराया जाए गा इसमें जो भी नुकसानी होगी कार्य दाई संस्था की होगी।

Share.

Leave A Reply

error: Content is protected !!