ग्राम्य विकास योजना एवं पेयजल समस्या सम्बन्धी बैठक सम्पन्न

0

सोनभद्र(सीके मिश्रा)तेजी से खिसक रहे पेयजल स्तर को देखते हुए, पेयजल से जुड़े सम्बन्धित संस्थाओं व अधिकारीगण जिले में पेयजल व्यवस्था को मुकम्मल तरीके से बनायें रखें, ताकि पानी की किल्लत से लोगों को किसी भी प्रकार का फजीतह न उठानी पड़ें। पेयजल से जुड़े सम्बन्धित अधिकारी व कर्मचारी अपने दायित्वों का निर्वहन करते हुए पीने के पानी के लिए भरपुर संसाधनों का उपयोग कर आगामी दिनों में आने वाले पानी की समस्या से लोगों को निजात दिलायें।

image

उक्त बातें जिलाधिकारी प्रमोद कुमार उपाध्याय ने मंगलवार की शाम कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में ग्राम्य विकास योजना एवं पेयजल समस्या सम्बन्धी बैठक में दियें। बैठक के दौरान उन्होंने फ्लोरोइड से ग्रसित क्षेत्रों की स्थिति को जाना और वहां के लोगों को शुद्ध पेयजल मुहैया कराने के निर्देश सम्बन्धितों को देते हुए कहा। पेयजल समस्याओं को आगामी दिनों में एक विकट समस्या है, जिसे सम्बन्धित संस्था व अधिकारीगण इस समस्या के समाधान के लिए पूरजोर कोशिश करते हए पानी के सभी तरह के संसाधनों का उचित उपयोग करते हुए गांवों, मोहल्लों, मजरों आदि महत्वपूर्ण स्थानों पर शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराते रहें। उन्होंने कहा कि जहां पर पानी का लेबल बहुत ज्यादा खिसक गया है, वहां हैण्डपम्प रिबोर न करायें और कुओं की शिल्ट सफाई करायी जाय, जो हैण्डपम्प पहले से खराब पड़े हैं, उन हैण्डपम्प खराब पड़ें हैं, उन हैण्डपम्पों को जल्द से जल्द मरम्मत कराये जाने के निर्देश सम्बन्धितों को दिये। पेयजल हेतु हैण्डपम्प, मरम्मत, टैंकर द्वारा पेयजल की आपूर्ति पर व्यय किया जा सकता है। ग्राम पंचायतों द्वारा टैंकर से पानी की आपूर्ति के लिए भाड़े एवं शुल्क की दरें जिले स्तर से आवश्यकतानुसार सम्बन्धित विभाग को पत्र प्रेषित करें।
जिलाधिकारी ने बताया कि ग्राम पंचायतों के ग्राम प्रधानगण एवं ग्राम पंचायत सचिव को यह भी आदेशित किया गया है कि भीषण गर्मी से उत्पन्न पेयजल संकट के दृष्टिगत उक्त धनराशि से अपने ग्राम पंचायतों में हैण्डपम्प मरम्मत, रिबोर, जीआईएस पाईप बढ़ाने का कार्य, समर्सिबल से पानी की आपूर्ति एवं पेयजल टैंकर से पानी की आपूर्ति का कार्य कराना सुनिश्चित करें और किसी भी स्थिति में ग्राम पंचायतों में पेयजल की समस्या उत्पन्न होने पर इसे गंभीरता से लिया जायेगा। बैठक में दुर्बल मिशन योजना के तहत जिले के ग्राम पंचायतों में शासन की मंशा के अनुरूप विभिन्न प्रकार के किये जा रहे कार्यों की साप्ताहिक प्रगति रिपोर्ट भी समय से मुहैया करायें। जिलाधिकारी ने पेयजल समस्या को सुलझाने के लिए सम्बन्धितों को इस आदेश को कड़ाई से सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं।
ग्राम्य विकास योजना एवं पेयजल समस्या सम्बन्धी बैठक में जिलाधिकारी  प्रमोद कुमार उपाध्याय के अलावा मुख्य विकास अधिकारी रामाश्रय, जिला विकास अधिकारी  सुनील कुमार श्रीवास्तव, परियोजना निदेशक एन0एन मिश्रा, जिला कार्यक्रम अधिकारी अजीत कुमार सिंह, जिला युवा कल्याण अधिकारी एन0बी0 सिंह, डीपीआरओ  आर0के0 भारती, अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत,सोनभद्र श्रीमती वर्तिका तिवारी, डीएमओएसडी अमर पाल गिरि सहित पेयजल से जुड़े सम्बन्धित अधिकारीगण आदि मौजूद रहें। 

Share.

About Author

Leave A Reply

error: Content is protected !!