पीएम मोदी के मंत्र से छू-मंतर हो जाएगा भ्रष्टाचार और जातिवाद का नासूर

0



नीति आयोग अब भ्रष्टाचार, जातिवाद और सांप्रदायिकता जैसी भावनाओं को लोगों के मन से निकालने के लिए ‘मंत्रोच्चारण’ का सहारा लेगा। इसके लिए वह बाकायदा एक ‘मंत्र’ तैयार करने में लगा है। इसकी अवधि 30 सेकंड के करीब होगी। हालांकि इसे पढ़ने की पूरी प्रक्रिया 3 से 5 मिनट तक हो सकती है। हालांकि इस पर अभी फैसला होना बाकी है। यह प्रस्ताव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास जाना है। नीति आयोग की 21 जून को विश्व योग दिवस पर इस मंत्र को लांच करने की योजना है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें



Source link

Share.

Leave A Reply

error: Content is protected !!