Breaking News
Home / Sonebhadra / ग्यारहवीं शरीफ पर मुनक़्क़ीद की गई जश्ने ग़ौसुल वरा की महफ़िल

ग्यारहवीं शरीफ पर मुनक़्क़ीद की गई जश्ने ग़ौसुल वरा की महफ़िल

@राकेश/भीम
– आकर्षक विद्युत झालरों से दुल्हन की तरह सजाई गई थी जामा मस्जिद
-मुल्क की तरक्की के लिए हजरत ने की रूहानी दुआख्वानी

image

दुद्धी-ग्यारहवीं शरीफ के मुबारक मौके पर शनिवार की रात स्थानीय जामा मस्जिद में जश्न ग़ौसुल वरा की महफिल मुनक़्क़ीद की गई। कुरान शरीफ के तिलावत ए पाक से आगाज इस महफिल में स्थानीय नातियाओं ने एक से बढ़कर एक सरकार गौस पाक व सरकार हुजूर सल्लल्लाहो अलैहे वसल्लम के साथ-साथ मनकबत पढ़कर लोगों को इस्लामी रंग में रंगे रखा।

image

नातिया कलाम पढ़ने वालों में कारी उस्मान ने “इलाका ये किसका है ग़ौसुल वरा का, मेरे दिल पे कब्जा है ग़ौसुल वरा का, हाफिज तौहिद ने “गौसे आज़म बमने बेसरो सामां मददे,क़िबलिये दीं मददे, काबा-ए दीं मददे, नज़्र में लाया हूँ एक चाक गिरेबां मददे, रिज्वानुद्दीन ने मुनव्वर मेरी आँखों को मेरे शमशुददुहा कर दे, शकील भाई ने “मदीने में दिल है, है दिल मे मदीना, मेरी जिंदगी का करीना अलग है, गुलाम गौस ने “करम कर मरीजे मुहब्बत पर अपने, कोई जाम ऐसा पिला गौसे आज़म, हाफिज सज्जाद ने सहाबा खुशबू से आका को ढूंढ लेते हैं व सदर मोहम्मद शमीम अंसारी ने “करम की हो नज़र गौसे आज़म, फिदा तुम पर जाने जिगर गौसे आज़म, तसव्वुर की दो वो असर गौसे आज़म, जिधर देखूं आओ नजर गौसे आज़म के अलावा कई लोगों ने अपने इस्लामी अशआर अकीदत से पेश किए।

image

मौलाना नजीरुल कादरी ने अपनी रूहानी तकरीर में सरकार गौस पाक से जुड़े कई वाकियात को बहुत ही नर्म नाजुक लहजे में रखते हुए लोग लोगों को सिराते मुस्तकीम पर चलने की ताकीद दी। अंत में हजरत नसीरे मिल्लत ने सरकार गौस पाक की तकरीर को बयान करते हुए कहा कि लोग पैदा होने के बाद तालीम लेते हैं जबकि सरकार गौस पाक मां के पेट में ही 11 पारे के हाफिज हो गए थे। अल्लाह के जलवे को अपने सीने में जज्ब करने वाले एक वाहिद वली थे। हजरत ने मौजूद लोगों को जामा मस्जिद में इधर हाल ही में हुए बेहतरीन इंतज़ामों में कालीनरूपी जन्नमाज़, वजू के लिए गीज़र, नया साउंड सिस्टम, जाएराना पर्दे, मुकम्मल लाइटिंग पर अंजुमन कमेटी को मुबारकबाद देते हुए महफिले मिलाद में शामिल अकीदतमंदों से पांचों वक्त की नमाज के पढ़ने के साथ-साथ इस्लामी राह पर चलने की अपील की।

image

उन्होंने कौम की तरक्की के साथ-साथ दुद्धी व मुल्क की तरक्की के लिए खुदा की बारगाह में उपस्थितजनों के साथ सामूहिक दुआ की। इस अवसर पर पेश इमाम हाफिज सईद अनवर, मौलाना कासिम, मौलाना गुलाम सरवर, कलीमुल्लाह खान, फतेह मोहम्मद खान, एजाजुलहुदा, कौशर खान, तबरेज आलम एड, हाफिज जहांगीर, अली रजा हवारी सहित भारी तादात में अकीदतमंद मौजूद थे। महफिल ए मिलाद की निजामत हाफिज रजा उल रजा ने की।

About Naushad Ansari/Sanjay Dwivedi

Check Also

कार्यदायी संस्थाओं के पदाधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक 20 जनवरी को

सोनभद्र(सीके मिश्रा/संतोष सोनी)जिलाधिकारी प्रमोद कुमार उपाध्याय की अध्यक्षता में 20 जनवरी, 2018 को कलेक्ट्रेट मीटिंग …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: